Breaking News
Home » मध्यप्रदेश » उज्जैन » 284 खरीदी केन्द्रों के माध्यम से उज्जैन संभाग में गेहूं उपार्जन होगा – खाद्य आयुक्त ने समीक्षा बैठक ली

284 खरीदी केन्द्रों के माध्यम से उज्जैन संभाग में गेहूं उपार्जन होगा – खाद्य आयुक्त ने समीक्षा बैठक ली

गेहूं उपार्जन के लिये उज्जैन संभाग में 284 खरीदी केन्द्र बनाये गये हैं। इनके माध्यम से 15 मार्च से 15 मई के बीच समर्थन मूल्य 1735 रूपये प्रतिक्विंटल पर गेहूं की खरीदी की जायेगी। समर्थन मूल्य पर की जाने वाली गेहूं की खरीदी की समीक्षा के लिये खाद्य आयुक्त श्री विवेक पोरवाल ने आज बृहस्पति भवन में संभाग के सभी कलेक्टरों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में संभागायुक्त श्री एमबी ओझा, वेयर हाउसिंग कॉर्पोरेशन के प्रबंध संचालक श्री राजीव शर्मा, नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंधक संचालक श्री विकास नरवाल मौजूद थे।
खाद्य आयुक्त श्री पोरवाल ने निर्देश दिये हैं कि गेहूं खरीदी में मॉइश्चर पर विशेष ध्यान दिया जाये। एफएक्यू क्वालिटी का ही गेहूं खरीदी केन्द्रों पर खरीदा जाये। उन्होंने खरीदी केन्द्रों पर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। बैठक में जानकारी दी गई कि उज्जैन संभाग में उज्जैन जिले में 71, देवास में 68, मंदसौर में 41, रतलाम में 28, शाजापुर में 41, नीमच में 19 तथा आगर में 16 खरीदी केन्द्र बनाये गये हैं। भण्डारण के लिये पर्याप्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए खाद्य आयुक्त ने कहा है कि भण्डारण कार्य की मेपिंग करने का कार्य कलेक्टर के मार्गदर्शन में किया जाये।
एसएमएस प्रक्रिया में बदलाव
बैठक में मप्र नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंध संचालक श्री विकास नरवाल ने बताया कि इस बार एसएमएस की प्रक्रिया में बदलाव किया गया है। भोपाल मुख्यालय स्तर से किसानों को दो बार एसएमएस जायेंगे तथा खरीदी की दो संभावित तिथियां उन्हें दी जायेंगी। खरीदी केन्द्रों में सप्ताह में पांच दिन खरीदी होगी और बाकी दो दिन पैकिंग एवं भण्डारण का कार्य किया जायेगा। उन्होंने सभी कलेक्टर को यह सुनिश्चित करने के लिये कहा है कि कृषकों के भुगतान अनावश्यक रूप से रोके न जायें। उन्होंने गोदाम स्तर पर ही उपार्जन केन्द्र बनाये जाने तथा उपार्जन केन्द्र पर ही गुणवत्ता की सूक्ष्म जांच करने के लिये कहा है। श्री नरवाल ने वर्तमान में खरीदी केन्द्रों पर उपलब्ध मॉइश्चर मीटर के स्थान पर अच्छी गुणवत्ता के कम से कम 20 हजार रूपये कीमत के मॉइश्चर मीटर खरीदने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि खरीदी के लिये पर्याप्त मात्रा में बैग्स उपलब्ध हैं।
बैठक में जानकारी दी गई कि उज्जैन संभाग में उज्जैन जिले में 44889, देवास में 34664, मंदसौर में 16771, रतलाम में 14899, शाजापुर में 27664, नीमच में 7397 तथा आगर में 10660 किसान पूर्व में उपार्जन हेतु पंजीकृत हैं। नवीन पंजीयन 15 फरवरी तक कराये जा सकते हैं। समीक्षा के दौरान जानकारी प्राप्त हुई कि उज्जैन जिले के पास भण्डारण क्षमता का आधिक्य है, जबकि शाजापुर एवं आगर में भण्डारण क्षमता कम है। आयुक्त खाद्य द्वारा भण्डारण के लिये व्यवस्थित मेपिंग करने के निर्देश दिये गये। आवश्यकता अनुसार आगर में साइलो स्थापित करने को कहा गया है। बैठक में उज्जैन कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे, देवास कलेक्टर श्री आशीष सिंह, शाजापुर कलेक्टर श्री श्रीकान्त बनोठ, आगर कलेक्टर श्री अजय गुप्ता, मंदसौर कलेक्टर श्री ओपी श्रीवास्तव एवं नीमच कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह मौजूद थे।

Check Also

मैं नही तू की भावना को परिलक्षित करता है सूफी गायन- सांसद डॉ. मालवीय

मैं नही तू की भावना को परिलक्षित करता है सूफी गायन- सांसद डॉ. मालवीय

सूफियाना कव्वाली सुन झूम उठे श्रोतागण, कालिदास अकादमी में सजी सुरों की महफिल उज्जैन : …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *