Breaking News
Home » मध्यप्रदेश » उज्जैन » शिक्षा के लिये बच्चों को अच्छा वातावरण देना शासन की प्राथमिकता–मंत्री श्री जैन

शिक्षा के लिये बच्चों को अच्छा वातावरण देना शासन की प्राथमिकता–मंत्री श्री जैन

पहले किराये के भवन में पढ़ते थे अब निजी भवन में पढ़ेंगे बच्चे, कानीपुरा रोड पर बनेंगे 4 करोड़ 20 लाख रूपये की लागत से 2 शाला भवन, मंत्री श्री जैन ने किया भूमि पूजन – ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन ने गुरूवार को कानीपुरा रोड के कस्तूरीबाग में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अन्तर्गत चार करोड़ 20 लाख रूपये की लागत से बनाये जाने वाले दो शाला भवन का भूमि पूजन किया। उल्लेखनीय है कि पहला भवन शासकीय मॉडल उमावि का बनाया जायेगा, जिसकी लागत दो करोड़ 97 लाख रूपये होगी। यह भवन तीन हजार वर्गमीटर क्षेत्रफल में बनाया जायेगा, जिसमें एक-एक प्राचार्य कक्ष, स्टाफ कक्ष, कम्प्यूटर कक्ष, एक्टिविटी कक्ष, आठ कक्षा कक्ष और चार प्रयोगशालाएं होंगी। इसके अलावा बालक-बालिकाओं के लिये अलग-अलग शौचालय की व्यवस्था भी इसमें की जायेगी।
इसके ठीक सामने दूसरा भवन शासकीय कन्या उमावि क्षीर सागर का बनेगा, जिसकी लागत एक करोड़ 23 लाख रूपये होगी। इसमें एक प्राचार्य कक्ष, छह कक्षा कक्ष, दो प्रयोगशाला और दो शौचालय होंगे। यह भवन 1200 वर्गमीटर के क्षेत्रफल में बनाया जायेगा। निर्माण की एजेन्सी पीडब्ल्यूडी पीआईयू रहेगी।

मंत्री श्री जैन ने इस अवसर पर कहा कि शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाना और बच्चों को पढ़ाई के लिये अच्छा वातावरण देना शासन की प्राथमिकता है। पहले क्षीर सागर में लगने वाला स्कूल किराये के भवन में लगता था, परन्तु यह अत्यन्त हर्ष का विषय है कि बच्चे अब निजी भवन में पढ़ाई कर सकेंगे। शिक्षा के क्षेत्र में निरन्तर विकास के कार्य किये जा रहे हैं। मंत्री श्री जैन ने कहा कि मोहनपुरा स्थित शासकीय हाईस्कूल में उनकी स्वयं की निधि से 50 सेट फर्नीचर उपलब्ध कराये जायेंगे। आने वाले समय में मुख्यमंत्री द्वारा 10वी और 12वी स्तर तक के ऐसे स्कूल जो गांव के अन्दरूनी क्षेत्रों में लगते हैं, वहां आसानी से बच्चे जा सकें, उनके परिवहन की व्यवस्था करने की योजना बनाई जा रही है। पहले बैतूल जिले से यह प्रारम्भ होगा, उसके बाद सभी जिलों में लागू किया जायेगा।

अच्छे अंक लाने पर बच्चों को लेपटॉप भी प्रदाय किये जायेंगे। मंत्री श्री जैन ने कहा कि वर्तमान समय में नौकरी सिफारिश के दम पर नहीं बल्कि योग्यता के आधार पर दी जा रही है। सभी बच्चे खूब मेहनत करें, पढ़ाई करें और अपनी योग्यता के आधार पर उच्च पद पर पहुंचे, यही सरकार की मंशा है। भविष्य में जो दो स्कूल यहां बनेंगे, ये आसपास के निवासियों के लिये एक बहुत बड़ी सौगात है। मंत्री श्री जैन ने सभी को अपनी ओर से शुभकामनाएं दी। इसके साथ ही उन्होंने भवन बनाने वाली निर्माण एजेन्सी को हिदायत दी कि शाला भवन निर्माण का कार्य उत्तम श्रेणी का होना चाहिये, क्योंकि भवन बार-बार नहीं बनते हैं। वे स्वयं भी निर्माण के दौरान निरीक्षण के लिये आते रहेंगे।
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर यूडीए अध्यक्ष श्री जगदीश अग्रवाल, शिक्षा समिति की अध्यक्ष श्रीमती नीलूरानी खत्री, क्षेत्रीय पार्षद श्री राजेश सेठी, श्री अनिल जैन कालूहेड़ा एवं शिक्षा विभाग के अधिकारीगण मौजूद थे। स्वागत भाषण जिला शिक्षा अधिकारी श्री संजय गोयल ने दिया। कार्यक्रम का संचालन प्राचार्या श्रीमती अलका मिश्रा ने किया।

Check Also

मैं नही तू की भावना को परिलक्षित करता है सूफी गायन- सांसद डॉ. मालवीय

मैं नही तू की भावना को परिलक्षित करता है सूफी गायन- सांसद डॉ. मालवीय

सूफियाना कव्वाली सुन झूम उठे श्रोतागण, कालिदास अकादमी में सजी सुरों की महफिल उज्जैन : …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *