Breaking News
Home » मध्यप्रदेश » शाजापुर » अतिवृष्टि से हुई क्षति के आंकलन के लिए सर्वे कराएं और पंचनामा भी बनाए-कलेक्टर श्री शर्मा

अतिवृष्टि से हुई क्षति के आंकलन के लिए सर्वे कराएं और पंचनामा भी बनाए-कलेक्टर श्री शर्मा

अतिवृष्टि से हुई क्षति के आंकलन के लिए सर्वे कराएं और पंचनामा भी बनाए-कलेक्टर श्री शर्मा
अतिवृष्टि से हुई क्षति के आंकलन के लिए सर्वे कराएं और पंचनामा भी बनाए-कलेक्टर श्री शर्मा

जिले में अतिवृष्टि से हुई क्षति के आंकलन के लिए शुजालपुर एवं शाजापुर अनुविभागीय अधिकारी दल गठित करें और सर्वे कराए। सर्वे रिपोर्ट के साथ पंचनामा भी संलग्न करें। सर्वे रिपोर्ट वास्तविक एवं मैदानी क्षेत्र का भ्रमण करने के उपरांत ही तैयार करें। उक्त निर्देश कलेक्टर श्री राजीव शर्मा ने जिले में बाढ़ के दौरान उत्पन्न हुई आपदा की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक के दौरान दिए।

इस मौके पर पुलिस अधीक्षक श्री अनिल शर्मा, जिला पंचायत सीईओ श्री सुदेश मालवीय, विद्युत वितरण कम्पनी अधीक्षण यंत्री श्री एस.एल.करवाड़िया, अपर कलेक्टर श्रीमती मीनाक्षी सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री महेन्द्र तारणेकर, अनुविभागीय अधिकारी शाजापुर श्रीमती लक्ष्मी गामड़, डिप्टी कलेक्टर श्री के.के. मालवीय, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती वंदना मेहरा, कमाण्डेंट होमगार्ड श्री राजेश जैन, कार्यपालन यंत्री जलसंसाधन श्री अरूण शर्मा, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा श्री के.डी.एस. सोलंकी, उपसंचालक उद्यानिकी श्री जे.एस.पन्द्रे, उपसंचालक कृषि श्री संजय दोशी, आरटीओ श्री ज्ञानेन्द्र वैश्य, आपूर्ति अधिकारी श्री एम.एल. मारू, एसएलआर श्री एच.एस. नामदेव, डीपीसी श्री अक्षय सिंह राठौर, नगरपालिका सीएमओ श्री के.एल. सुमन भी मौजूद थे।

कलेक्टर श्री शर्मा ने संबोधित करते हुए कहा कि विगत दिनो अतिवृष्टि के कारण आई आपदा से निपटने में जिले के सभी अधिकारियो ने अपेक्षानुरूप कार्य किया है। इसके लिए सभी प्रशंसा के काबिल है। उन्होने असाधारण कार्य करने वाले अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री महेन्द्र तारणेकर, कमाण्डेंट श्री राजेश जैन और अनुविभागीय अधिकारी श्रीमती लक्ष्मी गामड़ की भी विशेष प्रशंसा की। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से कहा कि अतिवृष्टि से शासकीय सम्पत्तियों को हुई क्षति का आंकलन कर रिपोर्ट दें। किसानो एवं आमजन को हुए नुकसान के लिए दोनो अनुविभागीय अधिकारी दल गठित करें। दल में सरपंच, सचिव, कोटवार, कृषि व उद्यानिकी विभाग के अमले को रखे। उन्होंने कहा कि सर्वे वास्तविक होना चाहिए। जिन क्षेत्रो में पानी भर जाने के कारण शिविर में रूकवाए गए रहवासियों के लिए भोजन आदि की व्यवस्था पर किए गए व्यय की पूर्ति हेतु देयक प्राप्त करें। जिन ग्रामीणो के घरो में पानी भर जाने से अनाज आदि का नुकसान हुआ हो ऐसे ग्रामीणों को चिन्हित कर उनके लिए खद्यान्न की व्यवस्था करने हेतु कलेक्टर ने जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया।

जिला परिवहन अधिकारी को कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जिन बसो को ड्रायवर द्वारा पुलियाओं पर पानी आने के बावजूद निकालने की कोशिश की गई उनके विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई करें। कलेक्टर ने जिला शिक्षा केन्द्र परियोजना समन्वयक श्री राठौर से कहा कि जिन विद्यालयो में अभी भी पानी भरा हो वहां के शिक्षको को तत्काल पानी निकासी के इंतजाम करने के निर्देश दे और क्षतिग्रस्त भवन में कक्षाएं संचालित न करें।
पुलिस अधीक्षक श्री शर्मा ने कहा कि नजदीक के जिले से भी होमगार्ड सतत् संपर्क में रहे। इस मौके पर कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण श्री वी.के. झा ने बताया कि वर्षा के कारण लोक निर्माण विभाग को लगभग एक करोड़ 40 लाख का नुकसान हुआ है। वर्षा के कारण मक्सी-झोकर मार्ग की पुरानी पुलिया टूट गई हैं। वहीं कालापीपल कुरावर मार्ग की भी पुलिया टूट गई है, इस कारण दोनो मार्ग बंद है। जिला पंचायत सीईओ श्री मालवीय ने बताया कि गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारो के मकानो को यदि वर्षा से नुकसान हुआ हो, उनके लिए ग्रामीण आवास मिशन के तहत आवास स्वीकृत करने की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिले के सभी जनपद पंचायत सीईओ को बाढ़ के दौरान किए जाने वाले कार्यो के बारे में विस्तार से बता दिया गया है। विद्युत वितरण कंपनी के अधीक्षण यंत्री श्री करवाड़िया ने बताया कि वर्षा के कारण सात ट्रांसफार्मर पानी में डूब गए थे और कुछ विद्युत पोल को नुकसान हुआ, जिनकी मरम्मत तत्काल प्रारंभ कर दी गई है।

Check Also

मनरेगा के कार्यो में 60:40 का अनुपात संधारित करें

शाजापुर जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सुदेश मालवीय ने सभी जनपद पंचायतो को उनके क्षेत्र …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *