Breaking News

कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आज प्रभारी मंत्री एवं स्कूल शिक्षा मंत्री श्री पारस जैन ने जिला योजना समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि जनप्रतिनिधियों की विकास के संदर्भ में की गई बातों को गंभीरता से लें। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि जनता के प्रति जवाबदेह है और कार्यों का क्रियान्वयन करने प्रशासन जवाबदेह है। ऐसी स्थिति में कार्यों को समय सीमा में कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने जनप्रतिनिधियों की बातों को गंभीरता से लेकर उन पर अमल करने की हिदायत अधिकारियों को दी। प्रभारी मंत्री ने आज की बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी,खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, लोक निर्माण, उद्यानिकी विभाग एवं ओलावृष्टि से किसानों को दिए जाने वाले मुआवजे की समीक्षा की।

प्रभारी मंत्री ने पिछली बैठकों में दिए गए निर्देशों का पालन नहीं करने पर अप्रसन्नता जताई। उल्लेखनीय है कि लोक निर्माण विभाग द्वारा जिले में किए जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यों एवं सडकों की सूची संसद सदस्यों,विधायकों एवं जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे। सूची उपलब्ध न कराने पर मंदसौर-जावरा क्षेत्र के सांसद श्री सुधीर कुमार गुप्ता ने न केवल आपत्ति जताई बल्कि इसे विधायी व्यवस्था की अवहेलना करार देते हुए गंभीर और जानबुझकर किया गया कृत्य निरूपित किया। बैठक में रतलाम खाचरोद मार्ग के लम्बे समय से खराब होने पर और इसकी मरम्मत न होने पर संबंधित ठेकेदार को ब्लेक लिस्टेड करने की मांग की गई।

कलेक्टर डा.संजय गोयल ने कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण को उनकी ओर से चीफ इंजीनियर को समिति की अनुंशंसा अनुसार पत्र प्रेषित करने के निर्देश दिए। बैठक में कार्यपालन यंत्री श्री सक्सेना ने आश्वस्त किया कि जून माह तक रतलाम जिले के हिस्से का कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा।

बैठक में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत निर्मित होने वाली सडको के बावजूद सही तरीके से गांव के संपर्क मार्ग नहीं बनने और कही कहीं पर एक दो किलोमीटर के क्षेत्र में कच्ची सडके होने पर चिंता व्यक्त करते हुए जनप्रतिनिधियों ने उन सडकों को भी बनाने की मांग की। कलेक्टर डा.संजय गोयल ने प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना के महाप्रबंधक को सडको को चिन्हित की जाने वाली टीम का नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। महाप्रबंधक ऐसी कच्ची सडकों को चिन्हित कर कलेक्टर एवं अन्य जनप्रतिनिधियों को अगली बैठक के पूर्व अवगत कराएंगे। इन एक’-दो कि.मी..मार्गों का निर्माण जो किसी योजना में सम्मिलित नहीं हो रहा है

लोक निर्माण एवं मण्डी निधि के माध्यम से कराया जाएगा।
प्रभारी मंत्री ने अगली बैठक में सभी विभागों को विधानसभावार जानकारी तैयार कर बैठक में उपस्थित रहने के निर्देश दिए। उन्होंने पेयजल की समीक्षा करते हुए जनप्रतिनिधियों से अनुरोध किया कि जिन तालाबों में पानी एकत्रित नहीं हो रहा है और जो अनुपयोगीसिद्ध हो रहे है। उनकी जानकारी लिखित में संबंधितों को दें ताकि उनके उपयोग हेतु आवश्यक कार्यवाही की जा सके। साथ ही तालाब निर्माणकर्ता एजेंसियों के विरूद्ध कार्यवाही किए जाने के समुचित कदम उठाए जा सकें। प्रभारी मंत्री ने कहा कि आवश्यकता होने पर पेयजल की आपूर्ति परिवहन कर की जाएगी। कलेक्टर ने बताया कि ग्राम पंचायतों से प्रस्ताव प्राप्त होने पर 48 घंटें में उसका परीक्षण लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी द्वारा किया जाएगा एवं 72 घंटे में संबंधित अनुमतिया जारी की जाएगी।

बैठक में आंगनबाडियों एवं विद्यालयों के पूरे समय संचालित नहीं होने पर जनप्रतिनिधियों ने चिंता जताई। उन्होंने कहा कि एक व्यवस्था तैयार होनी चाहिए जिसमें विभागीय जिलाधिकारी एक फोन नम्बर तय कर दें जिस पर कोई भी जनप्रतिनिधि उनसे जानकारी प्राप्त कर क्रास चेकिंग कर सके कि संबंधित संस्थाएं निर्धारित समय में संचालित हो रही है। बैठक में विद्यालयों में धूम्रपान एवं नशा करने वाले शिक्षकों के विरूद्ध कडी कार्यवाही करने के निर्देश दिए गएं। प्रभारी मंत्री ने जनप्रतिनिधियों को भ्रमण के दौरान पाए जाने वाले ऐसे शिक्षकों का पंचनामा बनाकर प्रशासन को अवगत कराने को कहा। कलेक्टर डा.गोयल ने जिला शिक्षा अधिकारी को ऐसे शिक्षकों के विरूद्ध निलम्बन एवं सेवा से बर्खास्तगी के प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान जिले में खाद की आपूर्ति अंतर्गत किसानों का मनपसंद खाद नहीं मिलने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने हिदायत दी कि किसानों को जिस खाद की आवश्यकता हो उसी खाद की मांग की जाकर सोसायटी के माध्यम से खाद की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए।किसी भी कीमत पर सोसायटी में उपलब्ध खाद को ही लेने के लिए किसानों पर दबाव न डाला जाए। बैठक में जिले में बंद पडी औद्योगिक इकाईयों के संबंध में कलेक्टर की अध्यक्षता में बैठक करने की मांग की गई। प्रभारी मंत्री ने बैठक आयोजित करने के निर्देश देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार अंतर्गत अपने स्वरोजगार लगाने के इच्छुक विभिन्न तहसीलों के युवाओं को तहसील में ही उद्योग लगाने के लिए जमीन आरक्षित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला व्यापार एवं उद्योग विभाग के महाप्रबंधक को इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए।

बैठक में जावरा में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग अंतर्गत पदस्थ अनुविभागीय अधिकारी श्री एस.एल.प्रजापति के विरूद्ध निलम्बन की कार्यवाही करने, आलोट में पदस्थ नर्स विमलेश कुमारी को तत्काल प्रभाव से हटाकर अन्य स्थान पर स्थानांतरित करने,जिले में चिकित्सकों की नियुक्ति संबंधी स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव को पत्र लिखने, जिले में संचालित नलजल योजनाओं के सत्यापन उपरांत प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने, सभी उपार्जन केन्द्रों पर तिरपाल इत्यादि की व्यवस्था रखने एवं प्रत्येक ग्राम पंचायत में सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत उचित मूल्य की दुकान खोले जाने के आवश्यक निर्देश दिए।

बैठक में सांसद श्री दिलीपसिंह भूरिया, रतलाम शहर विधायक श्री चैतन्य कुमार काश्यप, रतलाम ग्रामीण श्री मथुरालाल डामर, सैलाना विधायक श्रीमती संगीता चारेल,जावरा विधायक डा.राजेन्द्र पाण्डेय तथा आलोट विधायक श्री जितेन्द्र गेहलोत, महापौर डा.सुनीता यार्दे, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री प्रमेश मईडा एवं उपस्थित जिला योजना समिति के सदस्यों ने मुखर होकर सक्रियता से भाग लिया। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हरजिन्दर सिंह, सहायक कलेक्टर श्री आर सतीश कुमार एवं अन्य अधिकारीगण मौजूद थे

Check Also

सभी व्यवस्थाए पुख्ता की जाए – ए.डी.एम. श्री वानखेड़े

रतलाम : कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आज शाम ए.डी.एम. श्री कैलाश वानखेड़े के द्वारा आगामी 21 जून …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *