Breaking News
Home » मध्यप्रदेश » उज्जैन » बेहतर पढ़ाई – लिखाई तो नौकरी की दिक्कत नहीं होगी- शिक्षा मंत्री पारस जैन

बेहतर पढ़ाई – लिखाई तो नौकरी की दिक्कत नहीं होगी- शिक्षा मंत्री पारस जैन

नवनिर्मित कक्षों वाले बालिका छात्रावास भवन का लोकार्पण सम्पन्न
स्कूल शिक्षा मंत्री पारस जैन के मुख्य आतिथ्य में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अन्तर्गत दशहरा मैदान के समीप 1 करोड़ 37 लाख रूपये की लागत से दो मंजिला छात्रावास भवन का लोकार्पण सम्पन्न हुआ। इस अवसर में उपस्थित छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि, छात्रायें कड़ी मेहनत कर बेहतर पढ़ाई करेंगी तो उन्हें नौकरी पाने से कोई नहीं रोक सकता। वर्तमान में नौकरी मेरिट के आधार मिलती है। इसलिए बालिकाएं खुब मन लगाकर पढ़ाई करे और अपने विद्यालय, छात्रावास, परिवार का नाम गौरान्वित करें।

बेहतर पढ़ाई - लिखाई तो नौकरी की दिक्कत नहीं होगी- शिक्षा मंत्री पारस जैन
बेहतर पढ़ाई – लिखाई तो नौकरी की दिक्कत नहीं होगी- शिक्षा मंत्री पारस जैन
शिक्षा मंत्री पारस जैन ने कहा कि, राज्य सरकार द्वारा आमजनों के सर्वागिण विकास के साथ-साथ बालिकाओं के विकास पर भी खुब ध्यान दिया जा रहा है। सरकार द्वारा बेटियों के जन्म से लेकर विवाह तक का जिम्मा लिया गया है। साथ ही साथ उनकी पढ़ाई, उनका स्वास्थ्य को लेकर योजनाएं संचालित की है। शिक्षा मंत्री जैन ने कहा कि, दो मंजिला छात्रावास भवन के निर्माण हो जाने से अब बालिकाओं को अधिक सुविधाएं प्राप्त होगी। जन्मोत्सव मनाने की परम्परा प्रारम्भ हों। उन्होंने छात्रावास की अधीक्षिका से कहा कि वह छात्रावास में बालिकाओं के जन्मदिन मनाने कि परम्परा प्रारम्भ हो जिससे छात्राओं में और शिक्षिकाओं में आत्मियता का भाव जागेगा। इसके लिए रजिस्टर सन्धारित किया जाये। बालिकाओं के जन्मदिन मनाने के साथ-साथ अधीक्षिका एवं पढ़ाने वाले शिक्षिकाओं का भी जन्मदिन मनाये, इससे आत्मियता का भाव जागेगा। शिक्षा मंत्री ने कार्यक्रम के अन्त में व्याख्याता श्रीमती मीना झालानी एवं कक्षा दसवीं की छात्रा कुमारी शोभा गेहलोत के जन्मदिन होने पर पुष्पगुच्छ भेट कर सम्मानित किया। शिक्षा मंत्री ने छात्राओं से कहा कि वह 85 प्रतिशत से अधिक अंक लाये तो उन्हें सरकार द्वारा लेपटॉप उपलब्ध कराया जायेगा। शासन ने इस योजना की शुरूआत की थी तब प्रदेश में कम संख्या लेपटॉप लेने वालों की थी और अब संख्या में बढ़ोत्तरी प्रति वर्ष हो रही है। सरकार द्वारा पुलिस की भर्ती में महिलाओं की संख्या में बढोत्तरी कर रही है।
बेहतर पढ़ाई – लिखाई तो नौकरी की दिक्कत नहीं,मध्यप्रदेश शिक्षा मंत्री पारस जैन
विधायक डॉ.मोहन यादव ने इस अवसर पर छात्राओं से कहा कि छात्रावास का नया भवन मिलने से अब इसका लाभ उठाकर अपनी शिक्षा में बेहतर परिणाम लाये। लगन के साथ पढ़े और आगे बढ़े। नई सोच एवं संकल्प लेकर शिक्षा के क्षेत्र में उत्तरोत्तर आगे बढ़े और अपने शहर तथा माता-पिता का नाम रोशन करे। क्षेत्रीय पार्षद श्री राजेन्द्र वशिष्ट ने कहा कि पहले छात्रावास किराये के भवन में लगता था तो छात्राओं को कठिनाईयों का सामना करना पड़ता था। उन्होंने शासन को साधुवाद देते हुए खासतौर पर शिक्षा मंत्री पारस जैन की प्रशंसा की। उन्होंने छात्रावास की बाउन्ड्रीवाल लगाने तथा छात्रावास के मुख्यद्वार को सामने लगे विद्युत ट्रांसफार्मर को हटावाने पर ध्यान आकृष्ट किया।
जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती रूचिका चौहान ने कहा कि मैं जब इन्दौर में पढ़ती थी तब छात्रायें डॉमेंट्री में रहकर एक रूम में 8-10 छात्रायें रहकर पढ़ाई करती थी, परन्तु आज के दौर में यह नवीन छात्रावास भवन में एक रूम में 3-4 छात्राए रहकर अध्ययन करेगी इससे बड़ी खुशी की बात ओर क्या हो सकती है। आत्मबल से ही हम आगे बढ़ते हैं। बेटियां पढ़ने में अधिक तेज रहती है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी अधिक छात्रावास होंगे तो ग्रामीण अंचल की बेटियां और अधिक से अधिक पढ़कर परिवार का नाम रोशन कर सकती है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों का सम्मान करे। कार्यक्रम के प्रारम्भ में छात्रा कुमारी प्रिया सूर्यवंशी ने मंच पर आकर नवीन भवन के बन जाने से खुशी जाहिर की और शासन प्रशासन को बधाई दी और कहा कि अब नये भवन में नई उमंग और नई सोच के साथ खुब बेहतर ढंग से पढ़ाई कर आगे बढ़ने का प्रयास करेंगे। इसके पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी श्री संजय गोयल ने स्वागत भाषण दिया और कहा कि इस नवीन भवन में 100 छात्राओं की क्षमता है। अभी वर्तमान में 72 छात्रायें रहती है। नवीन भवन में 25 कक्ष(एक कक्ष में चार छात्रायें रहेगी), एक कक्ष वार्डन का, कक्ष चौकीदार का, एक मनोरंजन के लिए, एक हॉल भोजन के लिये, एक किचन, एक पुस्तकालय कक्ष एवं दोनों तल पर शौचालय, स्नान गृह की सुविधा उपलब्ध है।
जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि इस छात्रावास में प्रवेश की पात्रता कक्षा 8वीं उत्तीर्ण करने के बाद कक्षा 9वीं में प्रवेश ले सकती है। छात्रावास में उज्जैन के बाहर से अध्यापन करने के लिए उज्जैन में शिक्षा ग्रहण करने के लिए आती है उन छात्राओं को प्रवेश की पात्रता रहेगी। तीन और बालिका छात्रावास निर्माणाधीन छात्रावासों का मुख्य उद्देश्य बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने का है। इसलिए नागदा, पानबिहार और महिदपुर में भी बालिका छात्रावासों का निर्माण कार्य चल रहा है। कार्यक्रम के प्रारम्भ में अतिथियों ने माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं चित्र के समक्ष दीप प्रजवलन कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम के अन्त में अतिथियों के द्वारा नवीन भवन का फीता काटकर लोकार्पण किया एवं भवन का निरीक्षण किया। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती पदमजा रघुवंशी ने किया। इस अवसर पर उज्जैन विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री जगदीश अग्रवाल, सिंहस्थ मेला प्राधिकरण अध्यक्ष श्री दिवाकर नातू, संयुक्त संचालक शिक्षा श्री एमएस राठोर, सेवा निवृत संयुक्त संचालक श्री केके पाण्डे आदि उपस्थित थे।

Check Also

उज्जैन-विशाल ध्वज के साथ निकली बाबा श्री महाकाल की पालकी

श्रावण माह के पहले दिन राजाधिराज ने किया उज्जयिनी का भ्रमण, सवारी मार्ग में हजारों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × four =